उत्तराखंड में बना उत्तर भारत का सबसे बड़ा पामेटम

उत्तराखंड में बना उत्तर भारत का सबसे बड़ा पामेटम

हल्द्वानी में उत्तराखंड का पहला और उत्तर भारत का सबसे बड़ा पामेटम विकसित किया गया है । पामेटम, पेड़ की किस्म “पाम” की बागवानी करने का स्थान है । उत्तराखंड वन विभाग शाखा द्वारा कैंपा योजना के तहत विकसित किए हैं पामेटम 3 एकड़ से अधिक क्षेत्रफल में फैला हुआ है और यहां पाम की 100 विभिन्न प्रजातियों के पेड़ लगे हुए हैं ।

इनमें से 20 प्रजातियां विलुप्त होने की कगार पर है या खतरे में पहुंच चुकी है । इस पामेटम को करीब ₹16 लाख की लागत से विकसित किया गया है । इस पामेटम को स्थापित करने का मुख्य उद्देश्य विभिन्न पाम प्रजातियों के संरक्षण को बढ़ावा देना, इनके बारे में और अनुसंधान करना तथा इनके महत्व और पारिस्थितिकीय भूमिका के बारे में जागरूकता फैलाना है ।

पाम वृक्षों से कई तरह के खाद्य पदार्थ जैसे नारियल, खजूर, सुपारी और पाम तेल प्राप्त होते हैं। इसके अलावा घर के भीतर और बाहर सजावट में इनका का खास महत्व है ।

Leave a Reply

Scroll to Top