द बैटल ऑफ रेजांग ला बुक

कुलप्रीत यादव की नई पुस्तक “द बैटल ऑफ़ रेजांग ला” लॉन्च

वर्ष 1962 के भारत-चीन युद्ध में 5000 चीनी सैनिकों से लोहा लेने वाले 120 भारतीय सैनिकों की कहानी पर आधारित किताब “द बैटल ऑफ़ रेजांग ला” लॉन्च की गई है । इस किताब को पूर्व नौसेना अधिकारी कुलप्रीत यादव ने लिखा है ।

यह किताब भारतीय सेना की उस गाथा का दस्तावेज है जिसके कारण पूरे लद्दाख क्षेत्र पर कब्जा होने से रोका गया था । सेना की 13 कुमाऊं बटालियन की चार्ली कंपनी ने 18 नवंबर 1962 को लद्दाख में रेजांग ला दर्रें पर चीनी सैनिकों के हमले का जवाब दिया था । इस कंपनी में लगभग सभी सैनिक दक्षिणी हरियाणा के निवासी थे । टुकड़ी में 120 सैनिक थे जिनका नेतृत्व मेजर शैतान सिंह ने किया था ।

Leave a Reply

Scroll to Top