राष्ट्रीय ई-विधान

नागालैंड बना एनईवीए लागू करने वाला पहला राज्य

देश के पूर्वोत्तर राज्य नागालैंड ‘राष्ट्रीय ई-विधान’ ( National e-Vidhan Application – NeVA) परियोजना को सफलतापूर्वक लागू कर पूरी तरह से पेपरलेस होने वाली देश की पहली विधानसभा बनने का इतिहास 19 मार्च 2022 को रचा है ।

इसके लिए 60 सदस्यीय विधानसभा में हर विधायक की टेबल पर एक टेबलेट या ई-बुक लगाई गई है , जहाँ ‘NeVA’ एप के माध्यम से वह संसद की कार्यवाही से जुड़े दस्तावेज आदि देख सकते हैं ।

NeVA (राष्ट्रीय ई-विधान’)

➡ इस परियोजना का उद्देश्य देश के सभी विधानसभाओं को एक मंच पर लाना है , जिससे कई अनुप्रयोगों की जटिलता के बिना एक विशाल डेटा डिपॉजिटरी का निर्माण किया जा सके ।

➡ NeVA एनआईसी क्लाउड, मेघराज पर तैनात एक वर्क फ्लो सिस्टम है जो सदन के अध्यक्ष को सदन की कार्यवाही को सुचारू रूप से संचालित करने और सदन के विधायी कार्य को पेपरलेस तरीके से संचालित करने में मदद करती है ।

➡ नागालैंड के अलावा बिहार, पंजाब, उड़ीसा, मेघालय, मणिपुर, गुजरात, अरुणाचल, पांडिचेरी व त्रिपुरा विधानसभा भी जल्दी पेपरलेस होंगी क्योंकि ये सभी राज्य भी ‘नेशनल ई-विधान’ सिस्टम को लागू करने के लिए सहमति पत्र पर हस्ताक्षर कर चुके हैं ।

Leave a Reply

Scroll to Top