पीएम पोषण योजना

पीएम पोषण योजना शुरू करने की मंजूरी

  • केंद्रीय कैबिनेट ने मिड- डे मील योजना का नाम बदलकर पीएम पोषण ( PM POSHAN : PM Poshan Shakti Nirman ) योजना करने का फैसला लिया है ।
  • अब प्री प्राइमरी या बाल वाटिकाश में आने वाले 1 से 5 वर्ष की आयु के बच्चों को भी पीएम पोषण योजना के तहत कवर किया जाएगा ।
  • वर्तमान में एकींत बाल विकास योजना ( ICDS) के तहत आने वाली प्री प्राइमरी कक्षाओं के 24 लाख और बच्चों को भी योजना के तहत लाया जाएगा । गौरतलब है कि अभी तक मिड डे मील स्कीम के तहत पहली से आठवीं कक्षा तक के बच्चों को भोजन किया जाता था ।
  • स्कूलों में पोषण उद्यान भी विकसित किए जाएंगे, लगभग 3 लाख स्कूलों में इस तरह के पोषण उद्यान पहले ही विकसित किये जा चुके हैं ।

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने बुधवार को बताया कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने देश भर के 11.2 लाख से अधिक सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों के छात्रों को मिड डे मील प्रदान करने के लिए पीएम पोषण योजना शुरू करने की मंजूरी दी है । यह योजना 5 साल तक चलेगी इसमें 1.31 लाख करोड रुपए खर्च होंगे । अनुराग ठाकुर ने कहा कि पीएम पोषण योजना मौजूदा मिड डे मील योजना को समाहित कर देगी ।

  • यह योजना राज्य सरकारों के सहयोग से चलाई जाएगी लेकिन इसमें सबसे बड़ा योगदान केंद्र सरकार का होगा ।
  • पीएम पोषण योजना को 5 वर्ष ( 2021-22 से 2025-26 ) के लिए जारी रखने की मंजूरी दी गई है ।

नोट – मिड डे मील एक केंद्र प्रायोजित योजना है जिसे 1995 में शुरू किया गया था ।

Leave a Reply

Scroll to Top